Monday, April 15, 2024
Homeछत्तीसगढED Raid: छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री अग्रवाल और अनिला भेड़िया के घर...
Homeछत्तीसगढED Raid: छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री अग्रवाल और अनिला भेड़िया के घर...

ED Raid: छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री अग्रवाल और अनिला भेड़िया के घर ED की रेड, जाने पूरा मामला

India News (इंडिया न्यूज़), ED Raid: लोकसभा चुनाव से ठीक पहले छत्तीसगढ़ में ED की टीम ने पूर्व मंत्रियों,  कांग्रेस नेता, अधिकारियों समेत कारोबारी के घरों पर‌ छापा मारा है। शुक्रवार यानी आज सुबह ED‌ की‌ टीम ने छत्तीसगढ़ के कोरबा, बालोद और कोरिया में रेड‌ की‌ कार्यवाही को अंजाम दिया। कोरबा में पूर्व राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल के रिश्तेदार JP अग्रवाल के DDM रोड़ स्थित घर पर ED ने रेड मारी है। इसके साथ ही पूर्व मंत्री अनिला भेंडिया के प्रतिनिधि पीयूष सोनी के डौंडी निवास पर ED की सुबह से ही छापेमारी जारी है। इस ED की रेड को लेकर जानकारी मिल रही है कि महादेव सट्टा ऐप और DMF से जुड़े मामले पर लेकर जांच हो रही है।

इसके अलावा कोरिया जिला में बैकुंठपुर के जल संसाधन विभाग के गेस्ट हाउस में ED की टीम 2 गाड़ियों में 9 अधिकारी सवार होकर पहुंचे हैं। जहां DMF फंड के अनियमियता में जांच की जा रही है। राधेश्याम मिर्झा के घर के बाहर भारी सुरक्षा बल तैनात है।

पूर्व मंत्री के घर छापा

कांग्रेस सरकार के पूर्व मंत्री अनिला भेंडिया के प्रतिनिधि पीयूष सोनी के निवास में भी ED की टीम रेड मारकर डॉक्यूमेंट्स को खंगाल रही है। इस रेड को लेकर बताया जा रहा है कि पिछले दिनों महादेव सट्टा मामले में पीयूष सोनी को हिरासत में लिया गया था, उससे की गई पूछताछ के बाद यह छापा मारा गया है। हांलाकि इस मामले को लेकर आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है।

बैकुंठपुर में ED का छापा 

ED की रेड को लेकर बताया जा रहा है कि कोरिया जिले के बैकुंठपुर में जल संसाधन विभाग के गेस्ट हाउस में शुक्रवार ED की टीम ने छापा मारा है। यहां गेस्ट हाउस में रह रहे जनपद पंचायत बैकुंठपुर के CEO राधेश्याम मिर्झा को उठाकर पूछताछ की जा रही है। आपको बता दें कि राधेश्याम मिर्झा बैकुंठपुर जनपद पंचायत में पिछले 7 महीने से पदस्थ थे। वर्तमान में वह उनका सूरजपुर के प्रतापपुर जनपद पंचायत में पदस्थ है। यह भी बताया जा रहा है कि कांग्रेस के शासन काल में राधेश्याम मिर्झा प्रभावशाली अधिकारियों में से एक रहे हैं। उनके ऊपर पोड़ी-उपरोड़ा में भ्रष्टाचार के कई आरोप लगे थे। कोरबा में पोस्टिंग के दौरान DMF फंड में अनियमितता और भ्रष्टाचार के भी गंभीर आरोप लगे।

Read More:

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular