Tuesday, April 16, 2024
HomeUncategorizedFY24: चाय, दाल-चावल हुए महंगे, जानें क्या हुआ सस्ता
HomeUncategorizedFY24: चाय, दाल-चावल हुए महंगे, जानें क्या हुआ सस्ता

FY24: चाय, दाल-चावल हुए महंगे, जानें क्या हुआ सस्ता

India News CG (इंडिया न्यूज), FY24: वित्तीय वर्ष 2023-24 खत्म हो चुका है। महंगाई के मामले में बीता साल लोगों को कई जगहों पर राहत तो कहीं परेशानियां दे गया। इन 12 महीनों में खाद्य पदार्थों की महंगाई ने लोगों की परेशानी बढ़ाई है, वहीं पेट्रोल, डीजल और गैस की कीमतों ने लोगों की परेशानी कम की है। इस दौरान कई सामान महंगे हुए हैं तो कुछ के दाम कम हुए हैं। पिछले साल की महंगाई और कीमतों में गिरावट ने सुबह की चाय से लेकर शाम के खाने तक आपकी दिनचर्या पर क्या असर डाला है।

दूध और चीनी ने रुलाया

भारत में ज्यादातर लोगों के दिन की शुरुआत सुबह की चाय से होती है। इसे बनाने में जिन 2 सामग्रियों का सबसे ज्यादा योगदान है वो हैं दूध और चीनी। ये चाय के साथी भी पिछले साल महंगाई की मार से नहीं बच सके। पिछले वित्त वर्ष के दौरान दूध और चीनी दोनों की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है और इनकी कीमतों में 3-3 रुपये का इजाफा हुआ है। 1 अप्रैल 2023 को जहां दूध की कीमत 56 रुपये प्रति लीटर थी, वहीं अब यह 3 रुपये बढ़कर 59 रुपये प्रति लीटर हो गई है। इसी तरह चीनी की कीमत भी 41 रुपये प्रति किलो से 3 रुपये बढ़कर 44 रुपये प्रति किलो हो गई है।

कमर्शियल-घरेलू गैस सिलेंडर ने दी राहत की सांस

अगर पिछले साल LPG सिलेंडर के दाम भी बढ़ गए होते तो चाय बनाना और महंगा हो सकता था। लेकिन पिछले वित्त वर्ष में कमर्शियल और घरेलू गैस सिलेंडर की कीमतों में गिरावट से लोगों को फायदा हुआ है। पिछले 12 महीनों में घरेलू गैस सिलेंडर भी 300 रुपये सस्ता हो गया है। 1 अप्रैल 2023 को जहां घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत 1103 रुपये थी, वहीं 1 अप्रैल 2024 को घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत घटकर 803 रुपये हो गई है। इसी तरह 1 अप्रैल 2023 को दिल्ली में कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत 2,028 रुपये थी, जबकि 1 अप्रैल 2024 को देश की राजधानी में कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत 1795 रुपये हो गई है। यानी एक साल में कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमतों में 233 रुपये की कमी आई है।

पेट्रोल-डीजल ने बचाया

चाय-नाश्ता करने के बाद सभी को ऑफिस या काम से निकलना होता है। इसके लिए ज्यादातर लोग कारों का इस्तेमाल करते हैं। इस कार की कीमत यानी पेट्रोल-डीजल की महंगाई से पिछले साल लोगों को मामूली राहत मिली है। रूस-यूक्रेन युद्ध के बाद 2022 में पेट्रोल और डीजल की महंगाई ने लोगों को काफी परेशान किया था। लेकिन फिर मई 2022 में सरकार ने एक्साइज ड्यूटी घटाकर लोगों को इनकी महंगी कीमतों से राहत देने की कोशिश की। इसके बाद काफी समय तक पेट्रोल और डीजल की कीमतें स्थिर रहीं, लेकिन पिछले कारोबारी साल की विदाई से पहले एक बार फिर लोगों को पेट्रोल और डीजल की कीमतों में थोड़ी राहत मिली है। 1 अप्रैल, 2023 को जहां दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 96 रुपये थी, वहीं 1 अप्रैल, 2024 को देश की राजधानी में पेट्रोल की कीमत 94 रुपये प्रति लीटर थी। 15 मार्च को पेट्रोलियम कंपनियों ने पेट्रोल की कीमत में कटौती की थी। 2 रुपये प्रति लीटर और डीजल के दाम 2 रुपये प्रति लीटर। इसके बाद दिल्ली में डीजल की कीमत 87 रुपये प्रति लीटर हो गई है, जबकि 1 अप्रैल 2023 को डीजल 89 रुपये प्रति लीटर पर मिल रहा था।

दाल-चावल महंगे

लेकिन पिछले साल महंगाई ने दोपहर के भोजन को जेब पर थोड़ा भारी बना दिया है। 2023-24 खाद्य पदार्थों की महंगाई बढ़ाने वाला साल साबित हुआ है। इस दौरान सब्जियों की कीमतों ने भी रिकॉर्ड तोड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ी। वहीं, दाल और चावल की महंगाई भी लोगों की जेब पर डाका डालती रही। 1 अप्रैल 2023 को अरहर दाल की कीमत 115 रुपये प्रति किलो थी, जो 31 मार्च 2024 को 33 रुपये बढ़कर 148 रुपये प्रति किलो हो गई। इस दाल के साथ मिलाकर खाए जाने वाले चावल की कीमत भी इस दौरान बढ़ी है। 1 अप्रैल 2023 को चावल की कीमत जहां 39 रुपये प्रति किलो थी, वहीं साल के अंत तक यह बढ़कर 44 रुपये प्रति किलो हो गई। वहीं, चपाती में इस्तेमाल होने वाले आटे की कीमत भी 2 रुपये बढ़कर 34 रुपये प्रति किलो से 36 रुपये प्रति किलो हो गई है।

आलू और टमाटर हुए महंगे

अगर लंच महंगा हो गया है तो डिनर भी इससे पीछे नहीं है, क्योंकि पिछले साल अगर बेसिक दाल-चावल महंगे हुए हैं तो हर सब्जी के साथ खाने वाले आलू और टमाटर की कीमतों ने भी पिछले साल लोगों का बजट बिगाड़ दिया है। वर्ष। पिछले साल जुलाई-अगस्त में टमाटर 250 रुपये प्रति किलो के स्तर को भी पार कर गया था।

Read More:

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular