Tuesday, April 16, 2024
HomeNationalGuruwar Puja Mantra: गुरुवार के दिन भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के...
HomeNationalGuruwar Puja Mantra: गुरुवार के दिन भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के...

Guruwar Puja Mantra: गुरुवार के दिन भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए करें इन 5 मंत्रों का जाप

India News (इंडिया न्यूज़) Guruwar Puja Mantra: हिंदू धर्म में हर दिन किसी न किसी देवी-देवता की पूजा अर्चना की जाती है। उसी तरह गुरुवार का दिन भगवान विष्णु का होता है। इस दिन भगवान विष्णु देव को प्रसन्न करने के लिए व्रत रखा जाता है। हिन्दू धर्म में इस वर्त के अहम मायनें है। इस दिन विधि-विधान से भगवान विष्णु की पूजा अर्चना की जाती है। गुरु बृहस्पति की पूजा-अर्चना करने से भक्तों की सभी इच्छाए पूरी होती है।

पूजा की विधि

गुरुवार के दिन भगवान विष्णु की पूजा अर्चना करने के लिए पीले फूलों, पीले वस्त्र, तुलसी के पत्ते, अक्षत्, धूप, दीप, पंचामृत आदि की जरूरत होती है। उसके बाद आसन पर बैठकर विष्णु मंत्र का जाप करना चाहिए।

1.गुरुवार के दिन भगवान विष्णु का गायत्री मंत्र से भगवान को प्रसन्न करें। इसके जाप से मन को शांति मिलती है । जीवन के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं।

ॐ नारायणाय विद्महे। वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।

2. विष्णुजी को प्रसन्न करने के लिए बीज मंत्र का करें जाप। जीवन के लिए फलदायी होता है। यह बृहस्पति देव को प्रसन्न करने के लिए पहला बीज मंत्र है। इसके जाप से गुरु दोष मिट जाता है।

ओम बृं बृहस्पतये नम:।
ॐ गुं गुरवे नमः।
ॐ ऐं श्री बृहस्पतये नमः।

3.विष्णु मंत्र: गुरुवार के दिन भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए आप विष्णु मंत्र का जाप करें। इससे सारे कष्ट दूर होते हैं।

4.विष्णु कृष्ण अवतार मंत्र: गुरुवार के दिन भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए विष्णु कृष्ण अवतार मंत्र का जाप करें। ऐसा करने से भगवान श्री कृष्ण आपके सभी कष्टों को हर लेते है। इस मंत्र में भगवान कृष्ण का भी जिक्र हैं।

श्री कृष्ण गोविन्द हरे मुरारी,
हे नाथ नारायण वासुदेवा ॥
हे नाथ नारायण…॥

5. यदीं आपको अपने जीवन में सुख, समृद्धि और संपत्ति चाहिए, तो गुरुवार के दिन सुख समृद्धि के लिए विष्णु जी के मंत्र का जाप करना चाहिए। इस मंत्र के जाप से भक्तों पर भगवान विष्णु की कृपा बनी रहेगी

ओम भूरिदा भूरि देहिनो, मा दभ्रं भूर्या भर। भूरि घेदिन्द्र दित्ससि।ओम भूरिदा त्यसि श्रुत: पुरूत्रा शूर वृत्रहन्। आ नो भजस्व राधसि।

Read Also: Aaj Ka Rashifal: गुरुवार का दिन आपके व्यवसाय के लिए खास, जानें क्या कहती है आपकी राशि

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular