Monday, April 15, 2024
HomeHealthcotton candy: कॉटन कैंडी में खतरनाक केमिकल, इस राज्य ने लगाया बैन 
HomeHealthcotton candy: कॉटन कैंडी में खतरनाक केमिकल, इस राज्य ने लगाया बैन 

cotton candy: कॉटन कैंडी में खतरनाक केमिकल, इस राज्य ने लगाया बैन 

India News(इंडिया न्यूज़),cotton candy: अगर आप भी मेलों या बाजारों से अपने बच्चों के लिए ‘बूढ़ी औरत के बाल’ खरीदते हैं तो सावधान हो जाइए। दरअसल, बच्चों के बीच बेहद लोकप्रिय इस मिठाई में कैंसर पैदा करने वाला रसायन पाया गया है। चीनी से तैयार होने वाली इस मिठाई को अंग्रेजी में कॉटन कैंडी कहा जाता है। खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की जांच में कॉटन कैंडी में रोडामाइन-बी रसायन पाया गया। यह रसायन आमतौर पर कपड़ा उद्योग में उपयोग किया जाता है और अगर शरीर में चला जाए तो कैंसर का कारण बन सकता है। इस रिपोर्ट के आने के बाद पहले पुडुचेरी और तमिलनाडु सरकार ने इस पर रोक लगा दी।

कॉटन कैंडी पर प्रतिबंध की घोषणा

तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री एम सुब्रमण्यम ने कॉटन कैंडी पर प्रतिबंध की घोषणा करते हुए कहा कि इसका उद्देश्य कैंडी निर्माताओं, विक्रेताओं और उपभोक्ताओं के बीच रंगीन कैंडी में मौजूद हानिकारक रसायनों के बारे में जागरूकता पैदा करना है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रंग-बिरंगी कैंडी देखने में भले ही स्वादिष्ट लगती है लेकिन ये सेहत के लिए बेहद खतरनाक है।

पुडुचेरी सरकार ने प्रतिबंध लगाया

इससे पहले पुडुचेरी सरकार ने भी इस महीने की शुरुआत में कॉटन कैंडी पर प्रतिबंध लगा दिया था। दरअसल, वहां लिए गए नमूनों की जांच के बाद पता चला कि गुलाबी रंग की कॉटन कैंडी में रोडामाइन-बी रसायन होता है, जबकि नीले रंग की कैंडी में रोडामाइन-बी के साथ एक और अज्ञात रसायन मिलाया गया है। इन नमूनों के उपभोक्ताओं ने कॉटन कैंडी के दोनों रंगों को घटिया और स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माना।

स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, रोडामाइन-बी एक डाई है, जिसका इस्तेमाल चमड़े को रंगने से लेकर प्रिंटिंग पेपर तक हर चीज में किया जाता है। यह सेहत के लिए बेहद खतरनाक है और अगर यह शरीर में प्रवेश कर जाए तो कई बीमारियों का कारण बन सकता है। इसके सेवन से पेट फूलना, खुजली और सांस लेने में दिक्कत जैसी समस्याएं हो सकती हैं। अगर लंबे समय तक रोडामाइन-बी का सेवन किया जाए तो यह शरीर के अंदर किडनी, लिवर और आंतों में जमा हो सकता है। इससे किडनी और लीवर को नुकसान होने के साथ-साथ आंतों का कैंसर भी हो सकता है।

ये भी पढ़ें : 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular