Monday, April 15, 2024
Homeछत्तीसगढCoal scam: MLA देवेंद्र यादव की मुश्किलें बढ़ी, ED की जांच में...
Homeछत्तीसगढCoal scam: MLA देवेंद्र यादव की मुश्किलें बढ़ी, ED की जांच में...

Coal scam: MLA देवेंद्र यादव की मुश्किलें बढ़ी, ED की जांच में कुमार विश्वास,अकबर का भी जिक्र,जानें पूरा मामला

India News chhattisgarh(इंडिया न्यूज़), Coal scam: कोयला लेवी घोटाला मामले में भिलाई से कांग्रेस विधायक देवेंद्र यादव की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच में पता चला है कि देवेंद्र यादव ने अपराध की कमाई से 3 करोड़ रुपये लिए हैं. जांच रिपोर्ट में कवि कुमार विश्वास और पूर्व मंत्री मोहम्मद अकबर का भी जिक्र किया गया है।

सुनवाई के दौरान ईडी की ओर से हाई कोर्ट को यह भी बताया गया कि विधायक ने स्वीकार किया है कि वह सूर्यकांत तिवारी को पिछले 5 साल से जानते हैं। अप्रैल 2022 में खैरागढ़ उपचुनाव में कांग्रेस प्रभारी होने के नाते उनकी सूर्यकांत तिवारी से फोन और व्हाट्सएप कॉल पर बात होती थी।

देवेंद्र यादव को सूर्यकांत ने दिए 35 लाख रुपए

ईडी ने कहा कि व्हाट्सएप चैट से पता चलता है कि देवेंद्र यादव को सूर्यकांत तिवारी से 35 लाख रुपये मिले थे। यह भी खुलासा हुआ है कि उन्होंने सूर्यकांत से रामनवमी पर कुमार विश्वास के लिए कार्यक्रम आयोजित करने और 25 लाख रुपये का इंतजाम करने को कहा था।

डायरी में D यादव के नाम से एंट्री

ईडी ने कहा कि एक अन्य गिरफ्तार आरोपी निखिल चंद्राकर मुख्य आरोपी सूर्यकांत तिवारी का करीबी सहयोगी है। उन्होंने अपने बयान में कहा है कि डायरी में डी यादव के नाम की प्रविष्टि का संबंध भिलाई के वर्तमान विधायक देवेन्द्र यादव से है। यह भी बताया गया है कि यह नकदी उन्हें पूर्व मंत्री मोहम्मद अकबर के घर के पास नवाज नाम के एक व्यक्ति के माध्यम से सौंपी गई थी।

जानें क्या है कोल स्कैम?

  • ईडी ने छत्तीसगढ़ में जांच के बाद 540 करोड़ रुपये के कोयला लेवी घोटाले का खुलासा किया था। आईएएस रानू साहू के अलावा आईएएस समीर विश्नोई, सौम्या चौरसिया, जेडी माइनिंग एसएस नाग और कारोबारी सूर्यकांत तिवारी को गिरफ्तार किया गया था।
  • इसके अलावा कांग्रेस नेता और कुछ कारोबारी भी ईडी की जांच के दायरे में थे। इन लोगों से पूछताछ की गई है और उनके घरों से कुछ दस्तावेज भी जब्त किए गए हैं। ईडी ने पिछले साल 540 करोड़ रुपये के अवैध कोयला परिवहन का मामला दर्ज किया है।
  • कोयला परिवहन में कोयला एजेंसियों से प्रति टन 25 रुपये कमीशन वसूलने का आरोप है। ये रंगदारी सिंडिकेट करता था, सिंडिकेट के लोगों के नाम पर ही FIR दर्ज की गई है।
ये भी पढ़े:

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular