Tuesday, June 25, 2024
Homeबिलासपुरबिलासपुर में पंचायत के दो सचिव ने की लाख की हेराफेरी, CEO...
Homeबिलासपुरबिलासपुर में पंचायत के दो सचिव ने की लाख की हेराफेरी, CEO...

बिलासपुर में पंचायत के दो सचिव ने की लाख की हेराफेरी, CEO ने किया सस्पेंड  

इंडिया न्यूज़, Bilaspur :  Two Panchayat Secretaries Misappropriated Lakhs in Bilaspur

बिलासपुर में पंचायत के दो सचिव ने लाखो रूपये कि धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। इस मामले कि सूचना मिलते ही मौके पर जांच की गई । दो पंचायत सचिव को जिला पंचायत CEO ने सस्पेंड कर दिया है। दोनों सचिव अलग अलग समय में इस पंचायत में पद पर रहे चुके है। पंचायत में कार्य करते समय आरोपियों ने करीब साढ़े सात लाख रुपए की धोखाधड़ी की है। इस मामले का खुलासा तब हुआ जब दोनों अधिकारियो का तबादला होने लगी। CEO ने इस मामले की जांच की और पूरा मामला सामने आय। मामला कोटा जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत लिटिया का है।

जानकारी के अनुसार, जनपद पंचायत के दो सचिव केशव यादव और नवागांव सल्का के पंचायत सचिव पोलोदास कुर्रे के खिलाफ विभागीय जांच में आर्थिक घोटाला के आरोप लगा है। इसी पंचायत में दोनों सचिव अलग अलग समय में ग्राम पंचायत लिटिया में अधिकारी के पद पर थे। इस पद पर रहते हुए दोनों सचिव ने शासकीय रिकार्ड में कूटरचना कर सचिव केशव यादव ने 4 लाख 9 हजार 245 और पोलादास कुर्रे ने 3 लाख 35 हजार 718 रुपए की हेराफेरी की थी।

जिला पंचायत CEO ने की कार्रवाई

इस मामले की जांच के दौरान आरोपियों के खिलाफ आर्थिक अनियमितता का आरोप लगाते हुए जिला पंचायत CEO जयश्री जैन से शिकायत दर्ज की है। CEO जयश्री जैन ने बताया कि उन्होंने दस्तावेजों में हेराफेरी कर लाखो रूपये हड़प ली है। इन दोनों आरोपियों के खिलाफ लगे आरोप सही पाए गए हैं, जिसके बाद दोनों आरोपियों को सस्पेंड कर दिया है।

अब भी कोटा ब्लॉक में है पदस्थ

उन्होंने बताया कि दोनों पंचायत सचिव अभी भी कोटा ब्लॉक में पदस्थ हैं। केशव यादव कुंवारीमुड़ा में कार्यरत हैं तो पोलोदास कुर्रे छेरकाबांधा में काम कर रहे हैं। मामले की जांच के बाद ही उन्हें जनपद पंचायत कार्यालय में अटैच किया गया है। उनकी जगह में दोनों पंचायतों में अलग-अलग सचिव को अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular